हरियाणा की संगीत कला ( Famous Musical Art of Haryana)

प्रिय पाठकों, आज हम आपके लिए लेकर आये है हरियाणा की संगीत कला ( Famous Musical Art of Haryana) के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी, इसमे कुछ प्रश्न उत्तर आने वाले HSSC के किसी भी एग्जाम मे पूछे जा सकते हैै, अगर आपके पास हरियाणा की संगीत कला ( Famous Musical Art of Haryana) से सम्बंधित कोई जानकारी है तो आप हमारे कॉमेंट बॉक्स में सांझा कर सकते है

हरियाणा की संगीत कला

हरियाणा का संगीत मुख्य रूप से दो प्रकार का होता है जैसे: शास्त्रीय लोक संगीत और देसी लोक संगीत, हरियाणा देश में अद्वितीय राज्यों में से एक है। किसी भी राज्य के विकास में कला का महत्‍वपूर्ण योगदान होता है इसीलिए हरियाणा राज्य की संस्कृति व लोक नृत्य बहुत प्रसिद्ध है, खासतौर पर हरियाणा राज्य का संगीत व हरियाणा की रागनिया पूरे भारत देश मे प्रसिद्ध है तो आए देखते है किन किन स्थानों पर हरियाणा की संगीत कला छाई हुई है 

महात्मा सूरदास

 

मध्यकाल मे हरियाणा के संगीतकारों मे से महात्मा सूरदास नाम अग्रणी है  इनका जन्म फरीदाबाद की सिंही नामक स्थान पर हुआ था

सूरदास मुगल बादशाह अकबर के समकालीन थे और उनके पहले गुरु वल्लभचार्य थे जबकि दूसरे गुरु हरीदास थे इन दोनों गुरुओ से ही सिक्षा ग्रहण की थी

 

हरियाणा मे संगीत कला का प्राचीनतम साक्ष्य यमुनानगर जिले की सुध नामक स्थान पर मिला था और दूसरी शताब्दी मे यह प्राप्त हुई थी

 

सुध नामक स्थान से एक एक मूर्ति प्राप्त हुई थी जिसमे कुछ संगीतकार एक बैलगाड़ी मे बैठे दिखाई दिए है

 

हिसार के अग्रोहा नामक स्थान पर 9 वी शताब्दी मे एक ईंट मिली थी जिसके ऊपर सा रे गा मा लिखा हुआ था

 

हरियाणा मे 9 वी शताब्दी मे शास्त्रीय संगीत की झलक देखने की मिली 

 

प्रसिद्ध ख्याल गायक कल्लन  खान का संबंध रेवाड़ी जिले के गुड़ियानी नामक जगह से था इसने गुरु गुरु होददु खान थे

 

उत्तर मुगल काल मे प्रसिद्ध गजल गायिका जोहरा बाई हरियाणा के अंबाला जिले से प्रसिद्ध हुई थी

 

आधुनिक समय के प्रसिद्ध शास्त्रीय संगीतकार पंडित जसराज का जन्म फतेहाबाद के पीली मंदोरी मे हुआ था लेकिन जब इनका जन्म हुआ था तब फतेहाबाद जिला हिसार के अंतर्गत आता था

पंडित जसराज

 

पंडित जसराज को पद्म विभूषण अवॉर्ड से नवाजा जा चुका है

 

स्वर सम्राट की उपाधि पंडित जसराज को प्राप्त हुई है

 

प्रसिद्ध स्वाँगी पंडित लखमीचंद का जन्म सोनीपत जिले मे हुआ था

 

हरियाणा का जींद जिले मे गांवों के नाम संगीत सुरों पर है

 

द्रोपदी चीरहरण के स्वाँगी पंडित लखमीचंद है

 

प्रिय दोस्तों, आशा करते है कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी हरियाणा की संगीत कला से आप संतुष्ट होंगे इसी से जुड़े लेख हरियाणा के लोक नृत्य देखने के लिए नीचे क्लिक करे

हरियाणा के लोक नृत्य

5 2 votes
Article Rating

About Writer

Kajla

Web Designer at Help2Youth

Subscribe
Notify of
guest

1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments

Related Posts

  • हरियाणा की प्रमुख झीलें (Famous Lakes of Haryana)

    हरियाणा की प्रमुख झीलें (Lakes of Haryana)

    प्रिय पाठकों, हरियाणा की प्रमुख झीलें (Lakes of Haryana),जो हरियाणा राज्य की सुंदरता को चार चाँद लगाती है, के बारे में HSSC, HTET व अन्य परीक्षाओं में महत्वपूर्ण प्रश्न पूछे जाते है। तो आज हम आपके लिए इस पोस्ट में आपके लिए लेकर आए है हरियाणा की प्रमुख झीलें (जिलेवार) व उनसे संबंधित जानकारी। यदि इस पोस्ट में किसी झील में बारे में ना बताया गया हो तो कॉमेंट बॉक्स में जरूर लिखें।

  • हरियाणा के खनिज संसाधन(Mineral Resources of Haryana)

    हरियाणा के खनिज संसाधन(Mineral Resources of Haryana)

    प्रिय दोस्तों आज हम लेकर आये है हरियाणा के खनिज संसाधन(Mineral Resources of Haryana), जिससे आप आने वाले एग्जाम की तैयारी सही ढंग से कर सके, दोस्तो हरियाणा वे किसी भी एग्जाम में हरियाणा के खनिज संसाधन में से न कोई एक प्रशन जरूर आता है इसीलिए हम आप सभी के लिए यह विषय लेकर आये है

  • हरियाणा राज्य की जलवायु (Climate of Haryana State)

    हरियाणा राज्य की जलवायु (Climate of Haryana State)

    प्रिय पाठकों, आज हम आपके लिए लेकर आये है हरियाणा राज्य की जलवायु (Climate of Haryana State)ताकि आप आने वाले HSSC केे किसी भी एग्जाम की तैैयारी आसानी से कर सकते है, अगर हरियाणा राज्य की जलवायु (Climate of Haryana State) से सम्बन्धित कोई प्रश्न रह जाता है तो आप हमारे कॉमेंट बॉक्स के जरिये […]

Join Group Share Share Join Group Visit
1
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x