देश का पहला वन चिकित्सा केन्द्र उत्तराखंड

उत्तराखंड खंड वन विभाग द्वारा देश का पहला वन चिकित्सा केंद्र कालिका उत्तराखंड के रानीखेत में शुरू किया गया और यह लगभग 23 एकड़ में फैला हुआ है

देश का पहला वन चिकित्सा केन्द्र उत्तराखंड रानीखेत

देश का पहला वन चिकित्सा केन्द्र उत्तराखंड का उद्घाटन रानीखेत के प्रख्यात पर्यावरणविद जोगिंदन बिष्ट ने किया।

यह उत्तराखंड राज्य का एक प्रमुख पर्यटन स्थल है कालिका रिसर्च सेंटर के पीछे जंगल मे जापानी तकनीक पर आधारित पहला हीलिंग सेंटर है

यह चिकित्सा केंद्र चीड़ की बहुतायत वाले जंगल में बनाया गया है क्योंकि यह 29 प्रकार की चीड़ की प्रजाति के लिए प्रसिद्ध है

वहाँ अध्ययन करने से पता चला है कि चीड जैसे वृक्ष विभिन्न बीमारियाँ फैलाते है उन बीमारियों से बचने के लिए व प्राणियों से बचने के लिए कुछ तैलीय तत्व निकालते रहते हैं

इसलिए देश का पहला वन चिकित्सा केन्द्र उत्तराखंड में बनाया गया है ताकि विभिन्न प्रकार की बीमारियां जैसे कैंसर व सक्रमण आदि से लड़ने की क्षमता बढ़ती रहे।देश का पहला वन चिकित्सा केन्द्र उत्तराखंड

इसके दो प्रवेश द्वार है दोनों प्रवेश द्वार पर नंगे पैर चलना, घास के ऊपर दौड़ना, पेड़ो को गले लगाना, नीचे लेटना आदि सिग्नल के बोर्ड लगा रखे है

इस पर्यटन स्थल पर पर्यटकों को ओर भी आकर्षित करने के लिए लकड़ी के छोटे छोटे ट्री प्लेटफॉर्म लगा रखे है

0 0 votes
Article Rating

Kajla

Web Designer at Help2Youth
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments