दुनिया का 8वां अजूबा अंकोरवाट मंदिर (Angkor Wat Temple the 8th wonder of the world)

दुनिया का 8वां अजूबा अंकोरवाट मंदिर (Angkor Wat Temple the 8th wonder of the world)
Temple: Angkor wat,Combodia(8th wonders of the world)

दुनिया का 8वां अजूबा अंकोरवाट मंदिर (Angkor Wat Temple, the 8th wonder of the world)

प्रिय दोस्तों, Help2Youth के माध्यम से आज हम आपके साथ दुनिया के 8 वे अजूबे के बारे में जानकारी सांझा करने जा रहे है ।जैसे की अपने सुना ही होगा दुनिया में 7 अजूबे है और भारत  से ताजमहल 7 अजूबो में उसका एक उदाहरण है,लेकिन हमे दुनिया का 8वां अजूबा अंकोरवाट मंदिर (Angkor Wat Temple the 8th wonder of the world) चलो इसके बारे में हम विस्तारपूर्वक पढ़ते है और इसकी क्या विशेषता है।

दुनिया का 8वां अजूबा अंकोरवाट मंदिर (Angkor Wat Temple the 8th wonder of the world)

दुनिया का 8वां अजूबा बना अंकोरवाट मंदिर कंबोडिया में स्थित है।अंगकोरमंदिर का निर्माण राजा सूर्यवर्मन द्वितीय द्वारा 12 वीं शताब्दी में करवाया गया। ये मंदिर 162.6 हेक्टेयर में फैला हुआ है।यह एक बौद्ध मंदिर है। 800 वर्ष पुराने इस मंदिर ने इटली के पोम्पेई को पछाड़ा और दुनिया का आठवां अजूबा बना।

Temple:Angkor wat ,Combodia(8th wonders of the world)
Temple: Angkor wat,Combodia (8th wonder of the world)

 

अंकोरवाट एक विशाल प्राचीन बौद्ध मंदिर है। अंकोरवाट मंदिर को अपनी शानदार वास्तुकला की वजह से ही दुनिया का 8वां अजूबा कहा गया है। ये मंदिर चारो तरफ से घिरा  हुआ है। मंदिर के केंद्र परिसर में कमल के आकार के 5 गुंबद बने हुए हैं, जो माउंट मेरु का प्रतिनिधित्व करते हैं। मंदिर के दिवारों की सजावट काफी जटिल है और  हमे यह भी पता चलता है कि ये मंदिर खमेर शास्त्रिय शैली से बना है।

अंगकोर वाट को 1992 में यूनेस्को की विश्व विरासत सूची में शामिल किया गया था। अंगकोर वाट खमेर साम्राज्य की भव्यता को और दुनिया के 8वे अजूबे के रूप में एक एतिहासिक महत्व को दर्शाता है। यह साइट हर साल यहां आने वाले लाखों लोगो को आकर्षित करती है, जो इसकी सुंदरता को देखकर मंत्रमुग्ध हो जाते हैं।

अंकोरवाट मंदिर
अंकोरवाट मंदिर

 

अंगकोर वॉट खमेर साम्राज्य 9वीं शताब्दी में राजा जयवर्मन द्वितीय के अधीन उभरा, बाद में उन्होंने इसे अपनी राजधानी बनाया। इस दौरान  बहुत  से विकास के कार्य हुए लेकिन 12वी से 13वी शताब्दी में पूरी तरह से अंगकोरवाट फला फूला।

अंकोरवाट मंदिर
अंकोरवाट मंदिर,कंबोडिया

 

अंगकोर के मंदिरों के निर्माण ने खमेर लोगों की उल्लेखनीय वास्तुकला कौशल को प्रदर्शित किया।  इन संरचनाओं को जटिल पत्थर की तकनीक का उपयोग करके बनाया गया था, जिसमें हिंदू पौराणिक कथाओं और खमेर लोगों के जीवन के दृश्य शामिल थे।

15वी शताब्दी में अंगकोर वाट का पतन होने लगा। शहर खत्म होने लगे थे और जंगल बनते जा रहे थे। लेकिन 19वी शताब्दी तक आते आते फ्रांस के खोजकर्ताओ द्वारा अंगकोर वाट की खोज की गई।धीरे धीरे अंगकोर वाट दक्षिण पूर्व एशिया में सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक बन गया । और आज अंगकोर वाट का मंदिर दुनिया के 8वे अजूबे में शामिल हो गया।

अंकोरवाट मंदिर बना दुनिया का 8वां अजूबा (Angkor Wat becomes the Eighth Wonder of the World)

5 1 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments