भारत का पहला हार्ट फेलियर बायोबैंक( India First Heart Failure Biobank)

प्रिय दोस्तो, आज हम आपको बताने जा रहे है भारत का पहला हार्ट फेलियर बायोबैंक( India First Heart Failure Biobank) के बारे में विस्ततृ जानकारी, ताकि आपके आने वाले एग्जाम में अगर ये प्रश्न आये तो आप आसानी से उसका जवाब दे सके, तो आइए देखते है कि किस राज्य में यह बायोबैंक खोला गया है

भारत का पहला हार्ट फेलियर बायोबैंक

यह केरल के तिरवेंद्रमपुरम के श्री चित्रा तिरुनल इंस्टीट्यूट फॉर मेडिकल साइंसेज एंड टेक्नोलॉजी में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा भारत का पहला हार्ट फेलियर रिसर्च बायो-बैंक का उद्घाटन किया गया, जो भविष्य में गाइड के रूप में रक्तत, बायोपप्सी व नैदानिक डाटा को इकट्ठा करेगा

इसका उद्घाटन 5 अगस्त 2021को वीडयो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग के सचिव व भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (ICMR)के निदेशक प्रो. बलराम भार्गव ने किया है

इस अनुसंधान के खुलने से एक नए युग की शुरुआत होगी और हृदय रोगियों के लिए निदान और उपचार के परिदृश्‍य को बदल देगा और यह सुविधा कोविड पश्चात हार्ट फेलियर रोगी के उपचार के लिए साबित होगी

फिलहाल अभी देश मे कोई हार्ट फेलियर बायोबैंक नही है, इसके खुलने से हार्ट फेलियर लोगो को बहुत फायदा मिलेगा व दिल की बीमारियों व दिल की विफलता से भी छुटकारा मिलेगा

लांग कोविड व पोस्ट कोविड रोगियों के लिए जिसमे हार्ट फेलियर के लक्षण पाय जाते है उन रोगियों के लिए ब्योस्पेसिमेन इकट्ठा करने की आवश्यकता होती है

5 2 votes
Article Rating

About Writer

Kajla

Web Designer at Help2Youth

Subscribe
Notify of
guest

0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Related Posts

Join Group Share Share Join Group Visit
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x