हरियाणा मे वायु परिवहन(Airport in Haryana)

प्रिय पाठकों आज हम आपके लिए लेकर आए है हरियाणा मे वायु परिवहन( Airport in Haryana), जिससे आप आने वाले HSSC के exams की तैयारी कर सकते है अगर कोई जानकारी (Airport in Haryana) अधूरी रह जाती है तो है कृपया करके आप हमारे कॉमेंट बॉक्स मे हमारे साथ सांझा कर सकते है

हरियाणा मे वायु परिवहन

हम अपने प्रतिदिन जीवन मे विभन्न वस्तुओ व सेवाओ का प्रयोग करते है कुछ चीजे हमरे पास उपलब्ध होती है और कुछ चीजे हमे बाहर से मंगवानी पड़ती है वस्तुओ का आदान प्रदान करने के लिए व उनकी आपूर्ति करने के लिए हमे परिवहन की आवश्यकता होती है इसी के आधार पर ही परिवहन को 3 भागों मे बाँटा जाता है

स्थल परिवहन

इसके अंतर्गत सड़क परिवहन व रेल परिवहन आते है जबकि हरियाणा मे रेल परिवहन के बारे मे आपको पहले ही अवगत कराया जा चुका है

जल परिवहन

इसके अंतर्गत आंतरिक जल परिवहन व समुंदरी परिवहन आते है

वायु परिवहन

इसके अंतर्गत घरेलू विमान व अंतर्राष्ट्रीय विमान आते है और निजी क्षेत्र विमान को भी शामिल किया जाता है

Airport in Haryana

इन्ही तीनों परिवहन के आधार पर ही हम अपनी अर्थवयस्था को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बढ़ावा देते है हरियाणा मे सबसे ज्यादा काम रेल परिवहन के द्वारा किया जाता है लेकिन धीरे धीरे अब वायु परिवहन की ओर अग्रसर बढ़ रहा है तो आइए पढ़ते है हरियाणा मे वायु परिवहन के बारे मे विस्तारपूर्वक जानकारी

हरियाणा मे वायु परिवहन( Airport in Haryana)

भारत मे वायु वरिवहन की शुरुआत 1911 मे की गई थी जबकि हरियाणा मे , हरियाणा राज्य बनने के बाद इसकी शुरुआत की गई, नागरिक उड्डयन विभाग द्वारा हरियाणा मे 5 हवाई अड्डे है लेकिन वर्तमान मे (5+1=6) हवाई अड्डों का वर्णन मिलता है

हिसार

इसकी स्थापना 1999 मे की गई थी इस हवाई अड्डे को 2024 तक अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बनाया जाएगा ताकि आसपास के इलाकों के साथ ही उस इलाके का विकास सुनिश्चित होगा और युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे।


मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा पहली उड़ान

इस हवाई अड्डे से पहली उड़ान 3 सितंबर 2019 को हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने हिसार से चंडीगढ़ के लिए भरी थी

करनाल

इसकी स्थापना हरियाणा राज्य बनने के यक साल बाद 1967 मे की गई थी पहले इससे करनाल फ्लाइइंग क्लब के नाम से जाना जाता था यह वही हवाई अड्डा है जहां प्रथम भारतीय-अमरीकी अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला ने विमानचालन आरंभ किया था।

भिवानी

इसे 31 जुलाई 2013 को हरियाणा सरकर द्वारा हवाई अड्डे बनाने की घोषणा की थी

नारनौल

 

यह नारनौल से 10 किमी की दूरी पर भीलवाडा गाँव के पास स्थित है

पिंजोर

पहले इसे 1991 मे पिंजोर फ्लाइइंग क्लब के नाम से जनता जाता था लेकिन 2013 मे हवाई अड्डा घोषित होने के बाद इसे पिंजोर हवाई अड्डा के नाम से जाना गया

जींद

फिलहाल जींद मे कोई हवाई अड्डा नहीं है परंतु अभी प्रस्तावित है

जबकि हरियाणा सिविल  संस्थान विमानन के तहत हरियाणा मे 3 हवाई अड्डे है: हिसार, करनाल, पिंजोर

हरियाणा के सैनिक हवाई अड्डे(Army Airport in Haryana)

हरियाणा राज्य मे मौजूदा 2 सैनिक हवाई अड्डे है: एक है अम्बाला और दूसरा है सिरसा, तो आइए पढ़ते है दोनों के बारे मे विस्तारपूर्वक

अम्बाला

अम्बाला सैनिक हवाई अड्डा

इसका निर्मल 1919 मे किया गए था एयर 1938 मे इसे एयरबेस के रूप मे परिवर्तित कर दिया गया ओर 1948 मे इसे हवाई अड्डा बनाया गया यह हरियायँ का सबसे पुराना व सबसे बड़ा हवाई अड्डा है इसका उपयोग सैन्य और सरकारी उड़ानों के लिए किया जाता है। यह नेताओं और अन्य प्रमुख लोगों में उड़ान भरने के लिए भी उपयोग किया जाता है

सिरसा

यहां का एयरफोर्स स्टेशन देश के महत्वपूर्ण एयरफोर्स स्टेशनों में शामिल है। यहां मिराज, सुखोई और मिग जैसे महत्वपूर्ण लड़ाकू विमान हैं। 2009 मे इसे पूर्ण रूप मे सैनिक हवाई अड्डा बनाया गया

दोस्तों आशा करता हु की मेरे द्वारा दी गई जानकारी हरियाणा मे वायु परिवहन( Air Transport in Haryana)से आप संतुष्ट होंगे, हरियाणा की बाकी जानकारी लेने के लिए जुड़िये हमारे टेलीगरम ग्रुप मे

3.7 3 votes
Article Rating

Kajla

Web Designer at Help2Youth
Subscribe
Notify of
guest

1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments