ग्रवित योजना हरियाणा (Gravit Scheme Haryana)- ग्रामीण विकास के लिए युवाओं का योगदान

परिचय (Gravit Scheme Haryana)

जैसा की हम सब जानते है हमारे देश की आबादी का एक बड़ा हिस्सा ग्रामीण इलाको मे बस्ता है और युवा शक्ति मानो इसकी रीढ़ की हड्डी है। साथ ही युवा ऊर्जा शक्ति से भरे हुए होते है उनकी काम करने की शक्ति तथा इच्छा प्रबल होती है। अगर इसे मानव, समाज, तथा आर्थिक विकास के कार्यों में उचित दिशा दे दी जाए तो मानो विकास कार्य के पंख ही लग जाए।

लेकिन विडंबना ये है कि हमारी इसी युवा के एक बड़े हिस्से को सामाजिक बुराइयों जैसे शराब की लत, नशा, महिला, महिलाओं पर अत्याचार और महिलाओं पर होने वाले अपराधों ने अपनी चपेट में ले रखा है। जिससे हमें प्रत्येक सुबह असहनीय अपराधिक घटना सुनने को मिलती है।

इसी युवा शक्ति को विकास कार्य में गति देने के लिए एक विशेष संसाधन के रूप में बदलने के उद्देश्य से ही तत्कालीन विकास एवं पंचायत मंत्री माननीय श्री ओम प्रकाश धनखड़ की अध्यक्षता में माननीय मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल जी व केंद्रीय मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर के द्वारा 23जनवरी,2017 को ग्रवित  योजना को हरियाणा में लागू किया गया।

ग्रवित का शाब्दिक अर्थ ‘ग्रामीण विकास के लिए युवा’ ( ग्र –ग्रामीण, वि- विकास तथा त- तरुण)ग्रवित योजना (Gravit Scheme) के तहत हमारी युवा शक्ति को ग्रामीण विकास के कार्य में गति देने के लिए जी लागू किया गया है। इस योजना के जनक माननीय श्री ओम प्रकाश धनखड़ है।

You would also like to know

ग्रेविट योजना (GRAVIT Scheme) का उद्देश्य

आज भी हमारे देश में शिक्षा व स्वास्थ्य के क्षेत्र में शहर तथा ग्रामीण क्षेत्र का अंतर बिल्कुल स्पष्ट दिखाई देता है। आज भी ग्रामीण क्षेत्र में लोग 30% अनपढ़ है तथा 40% बच्चे कुपोषण के शिकार है आज भी परिवार नियोजन के उपाय ग्रामीण क्षेत्र के लोगों की पहुँच से दूर है। जिस कारण आज जनसंख्या विस्फोट तथा बिगड़े लिंग अनुपात ने विकट स्थिति उत्पन्न कर दी है।

इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि सरकार ने शिक्षा तथा स्वास्थ्य के सुधार के लिए कोई योजनाए ना लेकर आई हो लेकिन ये योजना सुनियोजित ढंग से ग्रामीण लोगों तक नहीं पहुँच पाती।

इसी क्षेत्र में जागरूक युवा अपनी महत्वपूर्ण भागीदारी निभा सकते है। वो ग्रामीण क्षेत्र को स्वास्थ्य तथा शिक्षा की एक अनुपम ज्योति से आलोकित कर सकते है तथा एक सुदृढ़ भारत के निर्माण में अपना अमूल्य सहयोग से सकते है। और इन्ही युवाओ को जागरूक करने के लिए ग्रवित योजना (Gravit Scheme) को लागू किया गया है। ग्रवित योजना के तहत ज्यादा से ज्यादा युवाओ को इस योजना से जोड़कर कर उन्हे प्रशिक्षण देना ताकि ग्रवित वोलिंटियर ग्रामीण विकास (आर्थिक व सामाजिक ) में अपनी भूमिका अदा कर सके।

ग्रवित योजना (GRAVIT Scheme) कार्य क्षेत्र

ग्रवित वोलिंटियर निम्नलिखित कार्यों के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं: –

  • अशिक्षित व कमजोर वर्ग तक सभी आवश्यक योजनाओ की जानकारी पाहुचना।
  • लैंगिक व सामाजिक न्याय को बढ़ावा देना।
  • स्वच्छता को अपनाना।
  • हमारी सांस्कृतिक विरासत का संरक्षण।
  • आपसी निगम और स्वयं सहायता और आत्मनिर्भरता के लिए प्ररित करना।
  • समाज के प्रति पारदर्शिता और जवाबदेही को बढ़ावा देना।
  • पंचायती राज को मजबूत करना
  • मौलिक कर्तव्यों के बारे में जागरूक करना।
  • समाज में शिक्षा के सत्र को बढ़ना।
  • समाज को नशे से दूर रहने के लिए प्ररित करना।
  • सरकारी नौकरी , बैंक, लघु उद्योग, पशुपालन और निजी क्षेत्र में रोजगार के अवसर सुर्जित करना।
  • पशुधन, डेरी फार्म तथा कृषि को बढ़ावा देना।
  • पानी व पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देना।
  • मृदा रक्षण की रोकथाम के उपाय।
  • ठोस तथा तरल अपशिष्ट प्रबंधन के उपाय।
  • ग्राम सभा की सहायता करना।

ग्रवित योजना (Gravit Scheme) में स्वयसेवकों की चयन प्रक्रिया

  • स्वयंसेवकों को कार्यक्रम की भावना के अनुसार काम करने के लिए एक उपक्रम देना होगा
  • उसे कम से कम 1 वर्ष और अधिकतम 3 वर्ष की अवधि के लिए काम करना होगा
  • उनमें से कम से कम 30% महिलाएं होंगी
  • उनमें से कम से कम 20% अनुसूचित जाति और अन्य कमजोर वर्ग के होंगे
    स्वैच्छिक कार्य की अवधि
  • नामांकन न्यूनतम एक वर्ष और अधिकतम तीन वर्ष की अवधि के लिए हो सकता है
  • तीन साल के बाद इसे प्रदर्शन के आधार पर बढ़ाया जा सकता है
  • तीन साल के संतोषजनक समापन के बाद उन्हें एक प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा

ग्रवित योजना (Gravit Scheme)द्वारा चलाये जाने वाले कार्यक्रम

  •  विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा ग्रामीण विकास     के लिए चलाई जा रही योजनाओ की जानकारी देना व जागरूकता फैलाना |
  • 15 अगस्त, 26 जनवरी एवं  2 अक्तूबर को होने वाले सरकारी कार्यक्रमों मे बढ़-चढ़ कर भाग लेना व युवाओ में अनुशासन व देश सेवा का संकल्प बढ़े इस के लिए प्रोत्साहित करना |
  • नौकरियों के स्थान पर रोजगार के अवसर खोजने के लिए युवाओ को प्रोत्साहित करना |
  • रक्तदान शिविरो का आयोजन करना व रक्त दान की लिए इच्छुक  volunteers की  हर जिलेवार  निर्देशिका नाम, पता, ब्लड ग्रुप व फोन नंबर  के साथ तैयार करना |
  • खेती के लिए नई तकनीको का प्रयोग व  पारंपरिक खेती के साथ बागवानी, वनस्पतियो की खेती आदि की तरफ भी बढ़ने के लिए किसानो को प्रेरित करना जिससे किसान खेती से होने वाली अपनी आय को बढ़ा सके।
  • सौर ऊर्जा के प्रति जागरूकता बढ़ाना |
  • समाज में वृद्धो का मान-सम्मान व उन की देखभाल बढ़े इस के लिए युवाओ  को प्रेरित करना |
  • भारतीय त्योहारो को पूरे उत्साह के साथ मनाने के लिए समाज को प्रेरित करना |
  • महापुरुषो की जयंती को समाज के साथ मिल कर मानना |
  • प्रत्येक गाँव 7 स्टार स्कीम के तहत अधिक से अधिक स्टार अर्जित करे इसके लिए पंचायत एवं समाज के साथ मिल कर प्रयास करना |
  • ग्रवित योजना से नये  जुडने वाले volunteers के लिए पाँच दिवसीय ट्रेनिंग कार्यकर्मों को आयोजन करना |
  • हर गाँव का ग्राम गौरव दिवस पंचायत के साथ मिल कर तय करवाते हुये उस दिन गाँव मे उत्सव मनाने के लिए समाज को प्रेरित करना |
  • वर्ष मे एक बार प्रत्येक जिले मे ग्रवित Volunteers का जिला स्तर के  सम्मेलन का आयोजन करना एवं वर्ष मे एक बार  ग्रवित Volunteers का राज्य स्तरीय सम्मेलन का आयोजन करना |

महत्वपूर्ण लिंक

आधिकारिक वेबसाईट 

0 0 votes
Article Rating

About Writer

SK Nimria

Author at Help2Youth

Subscribe
Notify of
guest

2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments

Related Posts

Join Group Share Share Join Group Visit
2
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x