हरियाणा मे पशुपालन सम्बंधित हरियाणा GK(Animal Husbandry of Haryana GK)

प्रिय पाठकों आज हम आपके लिए लेकर आए है हरियाणा मे पशुपालन सम्बंधित हरियाणा GK(Animal Husbandry of Haryana GK), जिससे आप आने वाले HSSC के Exams की तैयारी कर सकते है अगर कोई जानकारी Animal Husbandry of Haryana GK की अधूरी रह जाती है तो है कृपया करके आप हमारे कॉमेंट बॉक्स मे हमारे साथ सांझा कर सकते है

हरियाणा एक कृषि प्रधान देश है जहां पर 70 % लोग कृषि पर निर्भर रहते है हरियाणा के लोगों की आय का पहला स्त्रोत है जबकि हरियाणा का पशुपालन ग्रामीण क्षेत्रो में दूसरा स्त्रोत है ज्यादातर किसान हरियाणा राज्य में भैंस और गाय पालते है इसीलिये इनका पूरे राज्य में विशेष स्थान है हरियाणा राज्य की मुर्रा भैंस पूरे देश में प्रसिद्ध है इसीलिये मुर्रा भैंस को हरियाणा में काला सोना के नाम जाना जाता है तो आइये पढ़ते है हरियाणा में पशुपालन (Animal Husbandry of Haryana GK) संबंधित जानकारी विस्तार से ।

हरियाणा मे पशुपालन सम्बंधित हरियाणा GK(Animal Husbandry of Haryana GK)

हरियाणा 1 नवंबर 1966 को बना था तब हरियाणा राज्य में 314 पशु चिकित्सालय थे लेकिन वर्तमान में अब लगभग 2799 है हरियाणा में देश की बोवाइन आबादी का 2.5% हिस्सा है, लेकिन प्रति वर्ष 83.81 लाख टन दूध योगदान देता है जो देश के कुल दूध उत्पादन का 5.4% से अधिक है

कुल पशु: 89.98 लाख

 

कुल गाय: 18.08 लाख

 

कुल भैंस: 60.85 लाख

 

अनुमानित दूध उत्पादन: 98.09 लाख टन

 

प्रतिदिन प्रति व्यक्ति उपलब्धता: 1005 ग्राम

 

अंडा उत्पादन: 55,855 लाख

Animal Husbandry of Haryana GK

भारत मे पशुओं की गणना 1919 में शुरू की गई थी और आजादी के बाद पहली बार गणना 1951 में शुरू हुई थी जिसके हम Animal live Stock कहते है उसके बाद से यह गणना हर 5 साल के बाद की जाती है  और वर्तमान में 27 जनवरी 2019 में 20वी पशु गणना हुई है और यह गणना पशुधन जनगणना योजना डेयरी व पशुपालन विभाग द्वारा की गई थी  तो आइए पढ़ते है हरियाण में पशुपालन 2019 वी गणना के अनुसार के बारे में रोचक तथ्य

पहली बार बिल्लियों की जनगणना की गई

 

सबसे ज्यादा बिल्ली: मेवात नुहु

 

राज्य की जीडीपी में पशुधन का योगदान: 2.5%

 

कुल पशुओं की संख्या: 7126497

 

सबसे कम पशु: पंचकूला: 105871

 

सबसे ज्यादा पशु: हिसार 657532

 

सबसे ज्यादा भैंस वाला जिला: हिसार उसके बाद जींद है

 

सबसे कम भैंस: पंचकूला

बकरी

 

सबसे ज्यादा भेड़: भिवानी

 

सबसे ज्यादा बकरी: सिरसा

 

सबसे भेड़ कम: गुरुग्राम

 

सबसे कम बकरी: पानीपत

Animal Husbandry of Haryana GK

 

सबसे अधिक घोड़े: गुरुग्राम

 

सबसे कम घोड़े: पंचकूला

 

सबसे अधिक ऊंट: सिरसा

 

सबसे कम ऊंट: अंबाला, कुरुक्षेत्र, सोनीपत,

 

सबसे अधिक सूअर: सोनीपत

 

सबसे कम सूअर: मेवात

 

सबसे अधिक गधे: पलवल

 

सबसे कम गधे: अंबाला

 

सबसे अधिक खरगोश: मेवात

 

सबसे कम खरगोश: यमुनानगर

 

सबसे अधिक कुत्ते: गुरुग्राम

 

सबसे कम कुत्ते: मेवात

 

सबसे अधिक हाथी: कुल 5 है एर यमुनानगर मे 4 है और कुरुक्षेत्र मे 1 है बाकी किसी भी जिले मे नहीं है

 

सबसे अधिक खच्चर: झज्जर

 

सबसे कम खच्चर:पानीपत

 

कुल गौशाला: 615

 

सबसे अधिक गौशाला: सिरसा

 

पंजीकृत गौशाला: 546

 

सबसे कम गौशाला: रेवाड़ी

 

सबसे अधिक गाय: सिरसा

 

सबसे कम गाय: पंचकूला

 

सबसे अधिक नस्ल की गाय: साहिवाल

 

साहिवाल का रंग: लाल

 

पशु विज्ञान केंद्र: कैथल

 

देश का प्रथम नंदघर स्थापित: हसनगढ़, सोनीपत

 

सबसे बड़ा ऊंट का मेला: बरालु गांव, भिवानी

 

पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना: 6 दिसंबर 2019, इसकी शुरुआत भिवानी जिले से की गई थी

 

राज्य में प्रति व्यक्ति दूध उपलब्ध: 1087

प्रमुख संस्थान व केंद्र( Animal Husbandry of Haryana GK)

 

वर्तमान में राज्य पशु चिकित्सा संस्थान: 2799

 

सूअर अनुसंधान केंद्र: बसवाड़ा, करनाल

 

राष्ट्रीय पशु आनुवंशिक संस्थान: करनाल

 

आधुनिक सूअर प्रजनन केंद्र: हिसार

 

राष्ट्रीय दुग्ध अनुसंधान संस्थान: करनाल मे इसकी स्थापना 1955 में हुई। पहले यह बंगलौर मे था

 

केंद्रीय भैंस अनुसंधान संस्थान: हिसार, इसकी स्थापना 1985 में  हुई।

 

राष्ट्रीय अश्व अनुसंधान संस्थान: हिसार इसकी स्थापना 1986 में हुई।

 

पशु चिकित्सा एवं पशु विज्ञान विश्वविद्यालय: हिसार इसकी स्थापना 2010  में हुई ।

 

पशु चिकित्सा टीकाकरण संस्थान: हिसार

रियाणा पशु चिकित्सा प्रशिक्षण संस्थान: हिसार

 

Haryana State Warehouse Corporation की स्थापना 19 नवम्बर, 1997 में की गई।

 

NDRI ने 7 जुलाई 2015 को पशु पोषण नामक मोबाइल सेवा शुरू की

 

अश्व स्टेलियन केंद्र: टोहाना, फतेहबाद

 

सघन पशु विकास परियोजना: 1972 में  सबसे पहले भिवानी जिले से शुरू की गई

 

पालतू पशु चिकित्सा केंद्र: पंचकूला

 पशुओं की प्रमुख नस्लें (Animal Husbandry of Haryana GK)

भैंस की नस्ल

ये दो प्रकार की होती है: भारतीय भैंसे और विदेशी भैंसे

  • भारतीय भैंसे: इन्हें जल भैंसे भी कहा जाता है
  • विदेशी भैंसे: इसे दलदली भैंसे भी कहा जाता है जो दक्षिण पूर्वी एशिया में पाई जाती है
मुर्रा

 

पूरे भारत मे 8 प्रकार की प्रमुख नस्लें पाई जाती है

मुर्रा: हरियाणा व सबसे ज्यादा दूध देने वाली भैंस, यह 20 से 35 लीटर दूध देती है और इसे हरियाणा का काला सोना भी कहता है और हरियाणा का ट्रेक्टर भी कहा जाता है इसे स्थानीय भाषा मे खूंड़ी कहा जाता है

जाफरावादी: गुजरात व सबसे ज्यादा भारी भैंस

सुरती: गुजरात

मेहसाना: गुजरात

नागपुरी: महाराष्ट्र

भदावरी: उत्तरप्रदेश व मध्यप्रदेश व सबसे ज्यादा वसा देने वाली भैंस

तराई: उत्तरप्रदेश

निलिराव: पंजाब

गाय की नस्ल

दुधारू गाय: ये गाय सबसे ज्यादा दूध देती है सिंधी, साहीवाल, रेड व गिर आदि नस्ल की गाय भी दुधारू है जो सबसे ज्यादा दूध उत्पादन करती है

साहिवाल

भारवाही गाय: ये भार ढोने के काम आती है नागौरी, बछेड़ी, हल्लीकर, अमृतमहल आदि इसकी नस्ले है

दिविकाजी गाय: ये गाय दूध भी देती है और भार ढोने के काम भी आती है थारपारकर व मेवाती इसकी नस्ल है और हरियाणा राज्य मे इसे हरियाणा गाय के नाम से जाना जाता है

साहिवाल: पाकिस्तान व कुछ हिस्से मे राजस्थान मे और हरियाणा मे यह सबसे अधिक नस्ल की गाय पाई जाती है

लाल सिंधी: सिंध पाकिस्तान

सिरी: सिक्किम

भेड़

मालवीय: मध्य प्रदेश

भेड़ों की नस्लें

मेरिनो: स्पेन

बकरी की नस्ल

बीटल: पंजाब, हरियाणा

ब्लैक बंगाल: झारखंड, पक्ष्मि बंगाल, उड़ीसा

सिरोही: राजस्थान

जमुनापुरी: उत्तर प्रदेश, सबसे लंबी व ऊंची बकरी होती है

ऊंट की नस्ल

नाचना ऊंट: जैसलमेर विश्व का सबसे ऊंचा व सुन्दर ऊंट BSF के जवानों के पास यही ऊंट पाया जाता है

फलोदी: जोधपुर

बिकानेरी: राजस्थान मे

पशुओ का जीवन काल

पशु का नाम जीवन काल
घोड़ा 27 से 28 वर्ष
सूअर 14 से 15 वर्ष
बकरी 16 वर्ष
गाय 18 वर्ष
भैंस 19 से 20 वर्ष

पशुओ का गर्भकाल

पशु का नाम दिन या महीने
गाय 280 दिन
बकरी 140 दिन
सूअर 115 दिन
भैंस 310 दिन
ऊंट 13 से 15 महीने व ऊंटनी 410 दिन
भेड़ 150 दिन

अन्य महत्वपूर्ण (Animal Husbandry of Haryana GK)

कुल पशु: 89.98 लाख

 

कुल गाय: 18.08 लाख

 

कुल भैंस: 60.85 लाख

 

अनुमानित दूध उत्पादन: 98.09 लाख टन

 

प्रतिदिन प्रति व्यक्ति उपलब्धता: 1005 ग्राम

 

अंडा उत्पादन: 55,855 लाख

 

मधुमक्खीपालन:  मीठी क्रांति

 

कैटल फीड प्लांट: रोहतक

 

देश में सबसे अधिक दूध देने वाली भैंस:  मुर्रा 

 

एशिया का सबसे बड़ा पशुधन फार्म: हिसार

 

बागवानी कृषि: इसमें गेहूं व चावल की उत्पादकता में हरित क्रांति मे वृद्धि हुई थी। हरित क्रांति लाने का श्रेय डॉ नॉर्मन बोरलॉग भारत में क्रांति का श्रेय डॉक्टर एम एस स्वामीनाथन को जाता है।

 

फूल व फल उत्पादन: सुनहरी क्रांति

 

दूध उत्पादन: श्वेत क्रांति मे सबसे ज्यादा दूध उत्पादन किया जाता है

 

मछली पालन: नीली क्रांति

Animal Husbandry of Haryana GK

सरस्वती भैंस: इस भैंस का नाम हिसार जिले लतानी गांव में सुखबीर ने रखा था इस ने सबसे ज्यादा 32.65 किलो दूध देकर विश्व रिकॉर्ड बनाया है

होलस्टीन फ्रिसियन

 

क्लोन के माध्यम से भैंस का बच्चा: गरिमा करनाल हरियाणा

 

विश्व मे सबसे ज्यादा दूध देने वाली गाय: होलस्टीन फ्रिसियन

 

पशु विकास वाहिनी योजना: ग्रामीण क्षेत्रो में पशुओं के बारे में 24 घण्टे जानकारी प्राप्त करना

 

मत्स्य स्वास्थ्य सुरक्षा केंद्रों की संख्या: 20

 

हरियाणा पशुधन बोर्ड का गठन: 2007-08

 

पशु बीमा योजना लागू की गई: 15 जिलो में

 

पशुधन बीमा योजना की शुरुआत: 29 जुलाई 2016 को झज्जर जिले से

 

हरियाणा गौवंश संरक्षण अधिनियम: 19 नवंबर 2015 को इसके अंतर्गत गायों की हत्या के लिये 1 लाख रुपये व 10 साल की सजा का प्रावधान है

 

प्रिय दोस्तों, आशा करता हु की मेरे द्वारा दी गई जानकारी हरियाणा मे पशुपालन सम्बंधित हरियाणा GK(Animal Husbandry of Haryana GK) आपको सही लगी होगी और हरियाणा की कृषि के बारे जानने के लिए नीच दिए गए लिंक पर क्लिक करे

हरियाणा की कृषि, प्रमुख फसले, फल व सब्जियाँ (Agriculture Production of Haryana)
हरियाणा की कृषि
4.3 27 votes
Article Rating

About Writer

Kajla

Web Designer at Help2Youth

Subscribe
Notify of
guest

15 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments

Related Posts

  • हरियाणा के प्रसिद्ध संग्रहालय (Famous Museums of Haryana)

    हरियाणा के प्रसिद्ध संग्रहालय (Famous Museums of Haryana)

    प्रिय दोस्तो, आज हम आपके लिए लेकर आये है हरियाणा के संग्रहालय व पुरातत्व स्मारक(Famous Museums of Haryana) सम्बन्धित जानकारी, जो आपके आने वाले एग्जाम में से पूछे जा सकते है यदि कोई हरियाणा के संग्रहालय व पुरातत्व स्मारक(Famous Museums of Haryana)अधूरी रह जाती है तो आप हमारे कॉमेंट बॉक्स में सांझा कर सकते है

  • हरियाणा के पुरस्कार व सम्मान ( Famous Award and Honour of Haryana)

    हरियाणा के पुरस्कार व सम्मान ( Famous Award and Honour of Haryana)

    प्रिय दोस्तो, help2Youth आज आपके लिए लेकर आया है हरियाणा के पुरस्कार व सम्मान ( Famous Award and Honour of Haryana) की जानकारी, इनमें कोई एक प्रश्न हर एग्जाम में पूछा जाता हैै अगर कोई हरियाणा के खेल पुरस्कार (Famous Award and Honour of Haryana) रह जाता है तो कॉमेंट बॉक्स मे हमारे साथ सांझा कर सकते है

  • प्राचीन इतिहास का दर्शन करवाते हरियाणा के किले (Ancient Famous Fort of Haryana)

    प्राचीन इतिहास का दर्शन करवाते हरियाणा के किले (Ancient Famous Fort of Haryana)

    हरियाणा के किले (Ancient Fort of Haryana) जो हमें प्राचीन हरियाणा के इतिहास के दर्शन करवाते है। हरियाणा के किले (Ancient Fort of Haryana) जिन्होंने अनेक युद्ध व आक्रमण देखें है, जो हमें तत्कालीन राजाओं  के शासन तथा जीवनशैली के बारे में हमें अवगत करवाते है। तो इस लेख में पढ़ने वाले है हरियाणा के किले (Ancient Fort of Haryana) के बारे में

Join Group Share Share Join Group Visit
15
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x