हरियाणा साहित्य अकादमी वर्ष 2020 द्वारा चुने गए विभिन्न पुरस्कार

प्रिय दोस्तो, आज हम आपके लिए लेकर आये है हरियाणा साहित्य अकादमी वर्ष 2020 द्वारा चुनी गई श्रेष्ठ कृतियाँ के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी, यह पुरस्कार साल 2020 के लिए हरियाणा साहित्य अकादमी द्वारा प्रदान किये गए है तो आइए पढ़ते है हरियाणा साहित्य पुरस्कार 2020 की सूची

हरियाणा साहित्य अकादमी

हरियाणा साहित्य अकादमी की स्थापना हिन्दी व हरियाणवी साहित्य के विकास को बढ़ावा देने के उद्देश्य से जुलाई 09, 1970 को की गई। इसका मुख्यालय पंचकुला में स्थित है।

साहित्य पुरस्कार

हरियाणा साहित्य अकादमी ‘हरीगंधा’ नामक मासिक पत्रिका का प्रकाशन करती है

हरियाणा साहित्य अकादमी द्वारा प्रतिवर्ष हरियाणवी, उर्दू, संस्कृत व हिंदी भाषा को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न प्रकार के पुरस्कारों की प्रतिवर्ष घोषणा करती है तो आइये जानते है किन किन रचनाकारों व लेखकों को यह पुरस्कार दिया गया है

 

वर्ष 2020 के लिए हरियाणा साहित्य अकादमी द्वारा सम्मानित श्रेष्ठ रचीयता तथा उनकी रचना 

हिन्दी श्रेष्ठ कृति पुरस्कार 

रचनाकार का नाम  जिला  रचना का नाम  रचना वर्ग 
डॉ. शर्मीला हिसार  तीन टुकड़ा सूरज कविता 
विजय विभोर रोहतक  फिर वही पहली रात कहानी 
पंकज शर्मा अंबाला शहर  मुफ्त बातों के मुफ्तलाल व्यंग 
डॉ. अशोक कुमार चरखी-दादरी  हरियाणा शिखर महिलाएँ जीवनी 
बलजीत सिंह हिसार  काले पानी का सफेद सच यात्रा वृतांत 
महेंद्र सिंह सागर भिवानी  बाल उड़ान बाल साहित्य 

हरियाणवी श्रेष्ठ कृति पुरस्कार 

रचनाकार का नाम  जिला  रचना का नाम 
डॉ. जयभगवान शर्मा झज्जर  यादां का झरोखा
रामबीर सिंह सोनीपत  लोककला सिरमौर: निहालचंद शिवचरण

इन पुरस्कार विजेताओ को 31000/-( प्रत्येक विजेता को ) रुपये की अनुदान राशि प्रदान की जाती है। 

हिन्दी के प्रसिद्ध कवि 

हिन्दी कहानी प्रतियोगिता 

हिन्दी साहित्य अकादमी द्वारा आयोजित ‘कहानी प्रतियोगिता 2020’ के श्रेष्ठ तीन विजेताओ को क्रमश: 5000/- रुपये, 4000/- रुपये तथा 3000/- रुपये की अनुदान राशि प्रदान की जाती है। 

वर्ष 2020 में कहानी प्रतियोगिता के विजेता 

रचनाकार का नाम  जिला  रचना का नाम  स्थान 
सुरेश बरनवाल सिरसा  गीले पन्ने  प्रथम स्थान  
भावना सक्सेना फरीदाबाद   नौबत  द्वितीय स्थान  
विनीता मालिक  भिवानी  एडजस्ट करूँगी तृतीय स्थान 

चयनित पांडुलिपियाँ 

वर्ष 2020 के दौरान हिन्दी साहित्य अकादमी द्वारा हिन्दी व हरियाणवी भाषा की 20 पाण्डुलिपयों का चयन किया गया। चयनित की गई इन पांडुलिपियों के प्रकाशन के पश्चात इनके लेखकों को 20,000/- रुपये की अनुदान राशि पुरस्कार के रूप में प्रदान की जाती है। 

वर्ष 2020 मे चयनित पांडुलिपि लेखक 

लेखक का नाम  स्थान 
करतार सिंह जाखड़ भिवानी  
शारदा मित्तल  पंचकुला 
सुनीता देवी  संगरूर 
डॉ हेमलता शर्मा  पंचकुला 
श्याम वशिष्ठ  भिवानी 
सीमा गुप्ता  पंचकुला 
डॉ. सुरेश कुमार  अंबाला छावनी 
डॉ. सत्यवान सौरभ  भिवानी 
नीलम नारंग  हिसार 
विजय विभोर  रोहतक 
बनी सिंह जांगड़ा  हिसार 
अशोक बैरागी  सोनीपत 
बी. मदन मोहन  जगाधरी 
विपिन चौधरी  हिसार 
राजबीर वर्मा  करनाल 
त्रिलोक चंद  महेंद्रगढ़ 
शिखा कुमारी  हिसार 
दलबीर सिंह  रेवाड़ी 
सेवा सिंह  चंडीगढ़ 
डॉ. बहादुर सिंह  यमुनानगर 

देखे हरियाणा के प्रसिद्ध पुरस्कार व सम्मान

हरियाणा के पुरस्कार व सम्मान ( Famous Award and Honour of Haryana)
हरियाणा के पुरस्कार व सम्मान

प्रिय दोस्तो, हम उम्मीद करते है कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी से आप सन्तुष्ट होंगे, इससे सम्बंधित कोई प्रतिक्रिया या सुझाव देना चाहता है वो हमें कॉमेंट के माध्यम से पहुंचा सकता है 

 

5 2 votes
Article Rating

About Writer

SK Nimria
SK Nimria

I am a web developer cum content writer. I just love exploring new techniques of web designing and share them.

Subscribe
Notify of
guest

1 Comment
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments

Related Posts

  • हरियाणा के प्रसिद्ध किले ( Famous Fort of Haryana)

    हरियाणा के प्रसिद्ध किले ( Famous Fort of Haryana)

    प्रिय पाठकों, आज हम आपके लिए लेकर आये है हरियाणा के प्रसिद्ध किले ( Famous Fort of Haryana) के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी, इसमे कुछ प्रश्न उत्तर आने वाले HSSC के किसी भी एग्जाम मे पूछे जा सकते हैै, अगर आपके पास हरियाणा के प्रसिद्ध किले ( Famous Fort of Haryana) से सम्बंधित कोई जानकारी है तो आप हमारे कॉमेंट बॉक्स में सांझा कर सकते है

  • हरियाणा का क्षेत्रफल व जनगणना 2011 के अनुसार

    हरियाणा का क्षेत्रफल व जनगणना 2011 के अनुसार

    भारत की जनगणना  2011 तक 15 बार की जा चुकी है। 1951 के बाद की सभी जनगणनाएं 1948 की जनगणना अधिनियम के तहत कराई गईं। अंतिम जनगणना 2011 में कराई गई थी, तथा आगामी जनगणना 2021 में कारवाई जानी है जनगणना 2011 के बारे में पढ़ें।

  • कैथल के धार्मिक स्थल, तीर्थ स्थल

    कैथल के तीर्थ स्थल, कैथल के धार्मिक स्थल

    प्रिय दोस्तों आज हम आपके लिए लेकर आये है कैथल के धार्मिक स्थल, तीर्थ स्थल ताकि आप आने वाले एग्जाम की तैयारी कर सके। अगर कोई धार्मिक स्थल व तीर्थ स्थल रह जाता है तो आप कमेंट बॉक्स में हमारे साथ सांझा कर सकते है

Join Group Share Share Join Group Visit
1
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x